त्रिपुरा सुख सागर झील मामलाः शिकारियों पर घूमी शक की सुई, जानिए क्या है पूरा मामला

अगरतला,एएनआइ।त्रिपुराकेगोमतीजिलेकेउदयपुरकेअंतर्गतखिलपाराक्षेत्रमेंस्थितसुखसागरझीलक्षेत्रसेगुरुवारकोबड़ीमात्रामेंप्रवासीपक्षियोंकेशवमिलनेकीखबरसामनेआईथी।इसमामलेपरप्रधानमुख्यवनसंरक्षक(पीसीसीएफ)डा.डीकेशर्मानेशनिवारकोकहाकिवनविभागकेकर्मियोंकोसुखसागरझीलमेंकोईपक्षीकाशवनहींमिलाहै।शर्माकेअनुसार,स्थानीयग्रामप्रधाननेवनकर्मियोंकोबतायाहैकिझीलऔरआस-पासकीनिचलीफसलभूमिपरसैकड़ोंकीसंख्यामेंमृतपक्षीतैररहेथे।शर्मानेकहाकिहमनेवीडियोऔरतस्वीरेंदेखीहैं,लेकिनस्थानीयवनअधिकारियोंद्वारादिनभरकीकवायदकेबाद,परीक्षणकरनेऔरइससामूहिकहत्यायाशिकारकेपीछेकेकारणकापतालगानेकेलिएकोईनमूनानहींमिला।

शिकारियोंकाहोसकताहैहाथ

वनविभागकेकुछसूत्रोंकाकहनाहैकियहशिकारियोंकीहरकतहोसकतीहै,जिन्होंनेपहलीबारमेंपक्षियोंकोमौतकेजालमेंफंसायाऔरमुसीबतकोभांपतेहुएसबूतमिटानेकेलिएमरेहुएपक्षियोंकोगायबकरदिया।एएनआइसेबातकरतेहुए,पीसीसीएफनेयहभीबतायाकिवनकर्मीमृतपक्षियोंकापतालगानेकेलिएअपनीकवायदजारीरखेंगे।शुक्रवारकीसुबहसे,वनविभागकीटीमोंकोगांवकेविभिन्नहिस्सोंमेंकार्रवाईमेंलगायागयाहैजहांघटनाहुईहै।

वनविभागनेजारीकियाटेलीफोननंबर

डा.डीकेशर्मानेबतायाकिवनविभागनेएकटेलीफोननंबरभीजारीकियाहैताकिशिकारियोंकीपहचानकीजासकेयामृतपक्षियोंकेबारेमेंकोईजानकारीमिलनेपरलोगउनसेसंपर्ककरसकें।इसदौरानविभागनेअपनेजागरूकताअभियानकेदौरानपशुऔरवनकृत्योंकेखिलाफक्रूरताकीविभिन्नधाराओंकेतहतस्वीकृतदंडकाभीविशेषरूपसेउल्लेखभीकिया।

यहहैपूरामामला

बतादेंकि27जनवरीकोउदयपुरकेखिलपाराइलाकेमेंपक्षीकेशवोंकेमिलनेकीखबरसामनेआईथी।बादमेंजिलावनअधिकारीमहेंद्रसिंहनेमौकेकादौराकियाऔरजांचकेआदेशदिए।लेकिन,जिसतरहसेरहस्यमयतरीकेसेशवमौकेसेगायबहुए,उससेवनविभागकेसाथ-साथगांववालेभीसदमेमेंहैं।जानकारीकेमुताबिकपिछलेछह-सातसालोंसेयहपक्षीउदयपुरमेंआरहेथे।येपक्षीवास्तवमेंकैलिफोर्नियासेआतेहैं।