उच्चतम न्यायालय ने ईडी की अधिकारी को उनके मूल विभाग में भेजने की अनुमति दी

नयीदिल्ली,22फरवरी(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेसोमवारकोकोयलाघोटालामामलोंकीजांचमेंशामिलप्रवर्तननिदेशालयकीएकअधिकारीकीउनकेमूलविभागमेंभेजनेकीयाचिकाकोइसशर्तपरमंजूरकरलीकिइसमामलेमें"सक्षमअधिकारी"द्वाराउनकाकार्यभारसंभाललिएजानेपरहीउनकोइसकीअनुमतिहै।प्रधानन्यायाधीशएसएबोबडे,न्यायमूर्तिएएसबोपन्नाऔरन्यायमूर्तिवीरामसुब्रमण्यनकीपीठनेकहाकिइसपरकोईविवादनहींहैकियाचिकाकर्तासौम्यानुथालापतिएकविवाहितमहिलाहैं,जिनकेपासलगभगढाईसालकाबच्चाहैऔरवहवर्तमानमेंअपनीतैनातीकेकारणअपनेपतिसेदूरहैदराबादमेंरहरहीहैं।पीठनेकहाकियहविवादितनहींहैकियाचिकाकर्तानेतीनसालकाकार्यकालपूराकियाहै।उसकेबाद,उन्हेंकोयलाब्लॉकमामलेमेंओएसडीकेरूपमेंकामकरनेकेलिएनिर्देशितकियागयाथा।प्रवर्तननिदेशालयनेइसआधारपरउनकेअनुरोधकोअस्वीकारकरदियाकिउनकीपोस्टिंगन्यायालयकेआदेशकेतहतकियागयाथा।पीठनेकहा,"इनपरिस्थितियोंकोध्यानमेंरखतेहुएहमयाचिकाकर्ताकोउनकेमूलविभागमेंवापसभेजनेऔरवर्तमानपदसेमुक्तकरनेकीअनुमतिदेनाउचितसमझतेहैं,हालांकि,एकसक्षमअधिकारीकेउनकेस्थानपरपदभारसंभालनेकेबादहीउनकोइसकीअनुमतिहै।"अधिकारीभारतीयराजस्वसेवासेसंबद्धहैंऔरउनकामूलविभागसीमाशुल्कऔरकेंद्रीयआबकारीविभागहै।सॉलिसिटरजनरलतुषारमेहताइसमामलेमेंकेंद्रसरकारकीतरफसेपेशहुए।