उत्तराखंड: परिवहन विभाग को 47 फीसद राजस्व घाटा, टैक्स का हुआ सबसे ज्यादा नुकसान

देहरादून,राज्यब्यूरो।परिवहनविभागकोइसवर्षसितंबरतकबीतेवर्षकीतुलनामें47.16फीसदराजस्वकानुकसानहुआहै।इसमेंभीविभागकोसबसेअधिकनुकसानटैक्सकाहुआहै।कारणयहकिकोरोनाकेकारणप्रदेशसरकारनेवाहनोंकेटैक्समेंसितंबरतककीछूटदीहै।इसकेअलावावाहनोंकीबिक्रीसेमिलनेवालाराजस्वभीप्रभावितहुआहै।

परिवहनविभागकोटैक्स,रजिस्ट्रेशन,वाहनोंकेरजिस्ट्रेशन,रिन्युअल,लाइसेंसफीसऔरग्रीनसेसआदिसेराजस्वमिलताहै।इसराजस्वसेकर्मचारियोंकावेतनदेनेकेसाथहीसड़कसुरक्षाकार्यभीकराएजातेहैं।इसवर्षविभागकेराजस्वकीस्थतिबहुतअच्छीनहींहै।दरअसल,कोरोनाकेकारणलगेलॉकडाउनकेबादपरिवहनविभागकाकामभीबुरीतरहप्रभावितहुआ।जूनअंतमेंजबविभागखुलनेशुरूहुएतोभीपरिवहनविभागमेंबहुतकमकामहुआ।अबजबसारीचीजेंखुलचुकीहैंतोपरिवहनविभागनेअभीतककेराजस्वकाडाटानिकाला।

इसमेंयहबातसामनेआईकिविभागकोबीतेवर्षसितंबरऔरइसवर्षसितंबरतकमिलेराजस्वमेंतकरीबन200करोड़रुपयेकानुकसानहुआहै।इसमेंसबसेअधिक117करोड़रुपयेकानुकसानविभिन्नवाहनोंसेमिलनेवालेटैक्ससेहुआहै।कोरोनाकालकेदौरानवाहनोंकासंचालनबहुतकमहुआ।ऐसेमेंव्यावसायिकवाहनचालकोंकीआॢथकहालातकोदेखतेहुएसरकारनेटैक्समाफकरदियाहै।

यहभीपढ़ें: CoronavirusEffect:परिवहनविभागकोकोरोनाकालमें60प्रतिशतराजस्वकानुकसान,89फीसदकमहुईवसूली

इसकेअलावाविभागकोविभिन्नमाध्यमोंसेमिलनेवालीफीसमें36करोड़औरड्राइविंगलाइसेंससेमिलनेवालीफीसमेंभी10करोड़रुपयेकानुकसानहुआहै।वहींविभागकामाननाहैकिधीरे-धीरेयहअंतरकमहोजाएगा।उपआयुक्तपरिवहनएसकेसिंहकाकहनाहैकिअबविभागमेंसाराकामशुरूहोचुकाहै।वाहनोंकीबिक्रीशुरूहोचुकीहै,वाहनोंकेरजिस्ट्रेशनहोरहेहैं।लाइसेंसबननेशुरूहोचुकेहैं।ऐसेमेंविभागकाराजस्वबढ़नातयहै।

यहभीपढ़ें: उत्तराखंडकीआर्थिकविकासदरकोझटका,जानिएकितनेफीसदकीआईगिरावट