वाराणसी में छात्रा के शारीरिक शोषण के 6 साल पुराने मामले में अदालत ने सुनाया फैसला

वाराणसीकेविशेषन्यायाधीशपॉक्सोएक्टराजेंद्रप्रसादत्रिपाठीकीअदालतनेछात्राकोअगवाकरशारीरिकशोषणकरनेकेमामलेमेंआरोपीचोलापुरनिवासीशिक्षकरामप्रवेशकन्नौजियाकोदोषीपातेहुए7सालकीसजासुनाईहै।इसकेसाथहीअदालतनेआरोपीको15हजाररुपएकेजुर्मानेसेभीदंडितकियाहै।जुर्मानाअदाहोनेकेबादउसमेंसे10हजाररुपएपीड़िताकोदिएजानेकाआदेशदियागयाहै।

मई2016मेंदर्जकियागयाथामुकदमा

अभियोजनपक्षकेअनुसारचोलापुरक्षेत्रमेंरहनेवालीवादिनीनेमई2016मेंथानेमेंमुकदमादर्जकराया।आरोपलगायाकिउसकीनाबालिगबेटीएकविद्यालयमेंकक्षा11कीछात्राथी।उसीदौरानस्कूलकाशिक्षकरामप्रवेशउससेअश्लीलहरकतकरतारहाजिसकीशिकायतस्कूलमेंभीकीगईथी।17मई2016कीभोरमेंपीड़िताशौचकेनिकलीतभीआरोपीऔरअपनीबहनकेसहयोगसेभगालेगया।इसमामलेमेंपुलिसविवेचनाकेदौरानपीड़िताकोमुक्तकराया।बादमेंमेडिकलमुआयनाकरनेऔरकोर्टमेंकलमबंदबयानदर्जकराया।

पुलिसनेविवेचनाकेबादपॉक्सोऔररेपकीधाराकीबढ़ोतरीकरतेहुएकोर्टमेंआरोपपत्रदाखिलकिया।अदालतनेदोनोंपक्षकेसुननेऔरसाक्ष्यकेअवलोकनकेबादआरोपीकोदोषीपातेहुएसजासुनाई।जबकि,एकआरोपिताकोसाक्ष्यकेअभावमेंसंदेहकालाभदेतेहुएबरीकरदिया।