वन अधिकार कानून में बदलाव के लिए होगा आंदोलन : कांग्रेस

मंजरीचतुर्वेदी,नईदिल्लीयूपीएकेदौरमेंबनेक्रांतिकारीकानूनोंमेंमोदीसरकारद्वाराबदलावकोलेकरकांग्रेसनेमूकदर्शकबनेरहनेकीबजायइसकेखिलाफविरोधकासुरबुलंदकरनेकीनीतिअपनाईहै।इसकेमद्देदनजरलैंडबिलकेबादकांग्रेसनेअबवनअधिकारकानून2006मेंहुएबदलावकोलेकरपूरेदेशमेंमुहिमछेड़नेकीयोजनाबनाईहै।आनेवालेदिनोंमेंकांग्रेसउपाध्यक्षराहुलगांधीकीअध्यक्षतामेंकांग्रेसपूरेदेशमेंइसकानूनकेविरुद्धअभियानछेड़नेकाबिगुलफूंकनेवालीहै।कांग्रेसकाकहनाहैकिमोदीसरकारआदिवासियोंऔरवनवासियोंकेहाथोंसेजंगलोंऔरवनोंकोलेकरनिजीकपंनियोंऔरप्राइवेटहाथोंमेंदेनेकीयोजनाबनारहीहै,जोनतोआदिवासियों,वनवासियोंकेहितमेंहैऔरनहीदेशहितमें।कांग्रेसकीओरसेपूर्वकेंद्रीयमंत्रीजयरामरमेशनेमोदीसरकारपरनिशानासाधतेहुएवनअधिकारकानूनकोकमजोरकरनेकीकोशिशकोएकधक्काकरारदिया।उनकाकहनाथाकिअफसोसकीबातहैकिपिछले15महीनोंमेंजिसतरीकेसेमोदीसरकारनेइसऐतिहासिकऔरप्रगतिशीलकानूनकोनजरअंदाजकियाहै,इसकोकमजोरबनानेकीपूरीकोशिशकीगईहै,हममानतेहैंकिइसकानूनपरएकबहुतबड़ीचोटहै।कांग्रेसनेआरोपलगायाकिमोदीसरकारनेपिछलेदिनोंनईगाइडलाइंसजारीकी,जिसमेंवनअधिकारकानूनमेंढीलदीगईहै।पुरानेदिशानिशानिर्देशोंकेमुताबिक,गांवोंवजंगलोंकीजमीनलेनेयाउसपरकोइभीकामकरनेसेपहलेग्रामसभाकीइजाजतकेसाथ-साथवनअधिकारअधिकारियोंकीअनुमतिलेनीहोतीथी।लेकिननएनियमोंकेमुताबिक,अबइनदोनोंकीइजाजतकोजरूरीनहींमानागयाहै।रमेशकाकहनाथाकिसाल2006मेंमहाराष्ट्रकेगढ़चिरौलीगांवकामेंडालेखागांववनवासियोंकेअधकारोंकाप्रतीकबनागयाथा,लेकिनमौजूदासरकारआदिवासियोंकेहकोंकोछीननेमेंलगीहै।कांग्रेसनेआरोपलगायाकिमोदीसरकारकेइसफैसलेसेजहांएकमजबूतकानूनकमजोरहुआहै,वहींदूसरीओरकईराज्योंमेंइसकेलागूहोनेकीप्रक्रियारुकगईहै।उल्लेखनीयहैकिविपक्षमेंबैठीकांग्रेसआनेवालेदिनोंमेंगरीब,कमजोरोंऔरवंचितोंकेहोंकीआवाजउठाकरअपनीखोईहुईराजनैतिकजमीनतलाशनेकीकवायदमेंहै।इसकेतहतकांग्रेसपहलेकिसानों,मजदूरों,गरीबों,दलितोंकीआवाजउठाचुकीहै,अबउसनेआदिवासियोंकेहककेलिएलड़नेकामनबनायाहै।सूत्रोंकेमुताबिक,कांग्रेसइसलड़ाईकाशंखनादबजटसत्रकीशुरुआतसेपहलेकिसीआदिवासीइलाकेसेकरसकतीहै।कांग्रेसकीयोजनाहैकिइसअभियानकेतहतराहुलगांधीसेशुरुआतकिएजानेकेबाददेशकेतमामराज्योंमेंकांग्रेसकुछउसीअंदाजमेंमुहिमछेड़गी,जैसेलैंडबिलकोलेकरउसनेसंघर्षकियाथा।हालांकिअभीतकइसकीऔपचारिकतारीखऔरजगहकेबारेमेंकोईठोसजानकारीनहींदीगईहै,लेकिनकांग्रेसनेआनेवालेबजटसत्रमेंइसेभीएकमुद्दाबनानेकीपूरीतैयारीकरलीहै।बतायाजारहाहैकिमनरेगाकोलेकरआगामी5फरवरीकोदिल्लीमेंहोनेवालीप्रदेशाध्यक्षोंवसीएमपीलीडर्सकेसाथराहुलगांधीकीबैठकमेंआगामीरणनीतिपरविचारविमर्शहोसकताहै।