यहां दिन-रात पानी की तलाश में बीत रही जिंदगी

शिवाअवस्थी,चित्रकूट

जिलामुख्यालयकर्वीसे40किलोमीटरदूरमध्यप्रदेशकोजोड़नेवालीमारकुंडी-मानिकपुररोडसेसवाकिलोमीटरअंदरबसाहैचित्रकूटकीमानिकपुरतहसीलकीग्रामपंचायतकरौंहाकागोपीपुरगांव।पथरीलीजमीनवालेइसगांवमेंपानीकाअंकगणितहरघरपरहावीहै।यहांसभीबूंद-बूंदपानीकेपहरेदारहैं।छोटेयाहोबड़े,सुबहतीनबजेसेबारी-बारीपानीतलाशनेकीड्यूटीलगतीहै।यहतलाशपूरीहोतीहै,दोकिलोमीटरकलौनीखदानऔरडेढ़किलोमीटरदूरहल्दीडांडीसंगगांवकेइर्द-गिर्दउनचोहड़नुमाकुओंमें,जहांपहाड़ोंकेबीचसेरिसनेवालागंदापानीइकट्ठाहोताहै।इसगांवकीनियतिभीयहीहै।तड़केतीनबजेसेशुरूहोनेवालीपानीकीतलाशरात12बजेतकपूरीजाएतोईश्वरकृपा।सिलसिलाकईपीढि़योंसेजारीहै,डकैतोंकेफरमानपरबने'दयानिधान'इससेमुंहफेरेरहे।इसीलिएइसगांवके40वर्षतककेयुवामें50फीसदकुंवारेहैं।

शुक्रवारसुबहकरीबछहबजेगांवजानेवालीसड़क।बैलगाड़ीपरपानीलिएभूरायादवबोले,कलौनीखदानसबमर्सिबलपंपभरोसाहै।गांवमेंमुधुवाआरखकेघरकेपासकुछदिनपहलेसबमर्सिबललगाहैपरकमक्षमतावअक्सरबिजलीनदारदहोनेसेहाहाकारहै।सोलरपंप15दिनपहलेठीकहुआपरहरसप्ताहखराबहोताहै।जानकीशरणकहतेहैं,बरदहाबांधबराहमाफीसेबारिशमेंपानीमिलताहैपरआठमाहदर्दभरेहैं।शिवसागरयादवमानिकपुरमेंरहकरपढ़तेहैं।गर्मीकीछुट्टीभरपानीलानेकाकामउनकेजिम्मेरहताहै।सुबह,दोपहरवशाममेंआठघंटेइसमेंबीततेहैं।70वर्षीयबद्रीप्रसादबोलेकि300फीटपरपानीहै।हैंडपंपसफलनहींहैं।गोपीपुरकीफैक्टफाइल

पानीकेसंसाधन:बारिशमेंबरदहानदी,जमुनिहावचकलघटानाला।गर्मीमेंचोहड़-नलवसरकारीसबमर्सिबल।

सरकारीटैंकर:प्रत्येकघरकोपांचडिब्बापानीजबकिखर्चचारड्रम(60बड़ीबाल्टी)

ड्यूटी:बच्चे,महिलाएंबुजुर्गवयुवा।दूरऔरपासकेहिसाबसे।यहहैसमस्याकाहल

-दोकिलोमीटरदूरकलौनीखदानसबमर्सिबलपंपसेगांवतकजलापूर्ति।

-बरदहानदीसेबांधबनाकरबारिशकेपानीकासंरक्षणवशोधनकरआपूर्ति।बोलेजिम्मेदार

सोलरपंपखुदगांवजाकरठीककरायाहै।कुआं-चोहड़ोंकीसफाईहुईहै।जलापूर्तिकेलिएकलौनीखदानसेपाइपलाइनअच्छामशविराहै।ग्रामीणोंसेबातचीतकरइसपरकामकराएंगे।

-विशाखजी.,जिलाधिकारीचित्रकूट।