युवाओं का प्रयास बन गया मिसाल

रणेशराणा,बद्दी

पिछलेसाललॉकडाउनकेदौरानजबप्रदेशसरकारनेलोगोंकोकुछजरूरीकामनिपटानेकेलिएथोड़ीढीलदीथीतोइससमयकाबद्दीकेयुवाओंनेऐसासदुपयोगकिया,जिसेलंबेसमयतकयादरखाजाएगा।युवाओंनेजंगलमेंपुरानेटूटचुकेतालाबकोनयाजीवनदिया।जोअबवर्षाजलसंग्रहणकेलिएमिसालबनगयाहै।हालांकिउससमययुवाओंनेइसेवन्यप्राणियोंकेलिएपानीउपलब्धकरवानेकेलिएबनायाथा।

संडोलीकेभजनचौधरीवबद्दीकेरविंद्रठाकुरनेबतायाकिपिछलेसालवेसैरकेलिएहिमाचलवपंजाबसीमापरस्थितदासोमाजराजंगलकीपहाड़ीपरजातेथे।पहाड़ीकीचोटीपरएकपुरानातालाबथा,जोटूटचुकाथाऔरपूरीतरसूखाथा।गर्मियोंमेंदूसरेजलस्रोतभीसूखचुकेथे।तालाबकेआसपासकीमिट्टीमेंवन्यप्राणियोंकीआवाजाहीकेनिशानथे,जोकिशायदपानीकीतलाशमेंयहांआतेहोंगे।इसेदेखकरउन्हेंतालाबकोसंवारनेकाख्यालआयाऔरअगलेहीदिनघरसेगैंतीवकस्सीलेकरकाममेंजुटगए।इनदोनोंसेप्रेरितहोकरकुछऔरलोगभीइसमुहिममेंजुटगएऔरकरीब90फीटलंबाऔर60फीटचौड़ातालाबबनादिया।

वाट्सएपग्रुपबनाया

भजनचौधरीवबद्दीकेरविंद्रठाकुरनेइसमुहिमसेलोगोंकोजोड़नेकेलिएएकवाट्सएपग्रुपभीबनाया।इसग्रुपसेक्षेत्रकेभारतभूषण,रमनकौशल,अमरसिंहआदियुवाजुड़े।रमनकौशलनेबतायाकिइसकार्यमेंनरेंद्रकुमारदीपा,मोहनसिंह,मोहणाठाकुर,गुरचरणसिंह,चन्नी,ऋषिठाकुर,लक्ष्यठाकुरनेभीसहयोगदिया।इनलोगोंकाकहनाअबभविष्यमेंभीजरूरीहुआतोतालाबकोफिरसंवाराजाएगा,ताकिबारिशकापानीव्यर्थनबहे।तालाबमेंपानीहोगातोभूमिगतजलकास्तरभीसुधरेगा।वहीं,जंगलमेंआगलगनेपरभीइसकेपानीकाउपयोगकियाजासकताहै।